क्रेडिट कार्ड का नुकसान 2024

क्रेडिट कार्ड का नुकसान? जितने भी ऑनलाइन डिजिटल प्लेटफॉर्म पर काम करने वाली कंपनी है. वह सभी ग्राहकों को ज्यादा सामान खरीदने के लिए प्रेरित करना चाहती है. इसके लिए वे लोग कई बैंकों से टाइअप करते हैं तथा वह क्रेडिट कार्ड के माध्यम से अपने सामान पर ज्यादा डिस्काउंट देने की प्रयास करेंगे. जिससे बैंक आपको क्रेडिट कार्ड देगा.

उसके बाद आप इस क्रेडिट कार्ड के माध्यम से जाकर खरीदारी करेंगे अब देखिए इन दोनों में आपको क्या समानता दिखाई पड़ रहा है. जो भी बैंक है, वह ज्यादातर ग्राहकों को आज के समय में क्रेडिट कार्ड देना चाहती हैं. क्योंकि उनको भी उसका लाभ मिलेगा.

जब अधिक मात्रा में पैसे आपके वर्चुअल कार्ड में रहेंगे. तब उसका उपयोग कहीं न कहीं खरीदारी में करेंगे. क्योंकि स्वाभाविक है, कि जितना ज्यादा पैसा होगा, उतना ही ज्यादा खर्च होगा. अब जब आपका खरीदारी का मन नहीं है, तब भी आपके पास यदि क्रेडिट कार्ड मौजूद है, तोब आप कुछ न कुछ जरूर खरीदने का प्लानिंग करेंगे.

क्या होगा कि आप बहुत ज्यादा सामान बाय कर लेंगे. उसके बाद आपका इनकम जब आता हैं, ताे जितना आप कमाएंगे. उतना पैसा बिल भरने में चला जाएगा. कभी-कभी तो ऐसा भी होगा, कि जितना आपका इनकम होगा. उससे ज्यादा क्रेडिट कार्ड का बिल आ जाएगा. उस स्थिति में आपको अपनी खर्च की गई रकम को लोन में कन्वर्ट करना पड़ेगा. जिससे कर्ज बढ़ना शुरू हो जाएगा. धीरे-धीरे खर्च करने का लत बढ़ने लगेगा. आदमी के जीवन में यही से एक क्रेडिट का नुकसान होना शुरू हो जाएगा.

क्रेडिट कार्ड का नुकसान

देश में महंगाई क्यों बढ़ता है. इसका सबसे बड़ा कारण यही है, कि जब लोगों के पास अधिक मात्रा में कैश उपलब्ध होगा. तब उसका उपयोग बहुत ज्यादा करेंगे. जिससे कभी-कभी वह किसी दुकान पर जाते हैं. वहां पर ₹10 के समान वे दुकानदार ₹15 में भी उनको देता है. तब भी वह खरीद लेंगे. 

Credit Card Ke Nuksan - क्रेडिट कार्ड का नुकसान

क्योंकि उनके पास पैसा होगा. उस समय वह यह नहीं सोचते कि इसका ओरिजिनल प्राइस कितना है. धीरे-धीरे ऐसे ही क्या होता है कि वह दुकानदार सभी लोगों को वही सामान ₹15 में बेचने लगेगा. इसके बाद महंगाई बढ़ना शुरू हो जाएगा. ऐसे ही देश में जब भी महंगाई बढ़ता है. तब उसका सबसे बड़ा कारण यही होता है कि लोगों के पास जब अधिक कैश बढ़ेगा. तब देश, राज्य, बाजार में महंगाई भी बढ़ना शुरू हो जाता है.

अब ठीक ऐसे ही क्रेडिट कार्ड में भी होता है. क्योंकि एक प्रकार से यह भी आपके पास कैश के रूप में उपलब्ध रहता है. क्योंकि आज तो ऑनलाइन प्लेटफॉर्म पर कहीं भी आप जाते हैं, तो स्कैन करके भी पेमेंट अपने क्रेडिट कार्ड से कर देते हैं. क्योंकि अब रूपी कार्ड भी आने लगा है. जिसके बाद से फोन पे, गूगल पे से भी पेमेंट करना आसान हो गया है. अब जितना ज्यादा सुविधाएं बढ़ रही हैं. उतना ज्यादा आपको उसका कीमत भी चुकाना पड़ रहा है.

खर्चे पर कंट्रोल नहीं होना

जब तक आपके खर्चे पर कंट्रोल कभी नहीं होगा. क्योंकि हर समय आपके पास आपके पर्स में एक ऐसा यह जादू कार्ड उपलब्ध रहेगा. जो आपके मन को 5 गुना बढ़ा कर रखता है. जिसका कारण यह होगा कि आप जहां जाएंगे. वहां कुछ आपको अच्छा लगेगा.

तब उसको जरूर वहां से ले लेंगे. जिसके कारण आपका बजट नहीं है. फिर भी खरीदारी का जो प्लानिंग है. वह दिनों दिन बढ़ रहा है. यह सबसे बड़ा कारण हैं जो आपको बैंकिंग क्रेडिट कार्ड से होता है. इसीलिए इसका उपयोग करके कई लोग अपने आप को कर्ज में डुबो लेते हैं.

अनावश्यक ज़रूरतें बढ़ाना

अब देखिए जो जरूरी चीज नहीं हैं, उसको भी लोग ले लेते हैं. क्योंकि लगता है कि चलो मार्केट में कुछ नया चीज आया हैं. उदाहरण के लिए आपके घर टीवी उपलब्ध हैं. फिर भी यदि आपके पास क्रेडिट कार्ड है और यदि मार्केट में कोई नया डिजिटल टीवी आ गया. तब आपका मन करेगा कि हम उसको देखें कि उसका कैसा फीचर्स है.

अब ऐसा करने से क्या होगा कि उसको खरीदने के लिए आपके मन में भाव आना शुरू हो जाएगा. दो-चार दिन 5 दिन के बाद जाकर जरूर खरीदी लेंगे. यह सब कुछ तब होता हैं. जब वही क्रेडिट कार्ड आपके पास उपलब्ध होगा. इसीलिए आपके पास जितना ज्यादा पैसा कैश में उपलब्ध होगा. उतना ही ज्यादा खर्च बढ़ेगा. आज के समय में क्रेडिट कार्ड भी कैश वाला कार्ड बन गया हैं.

कर्ज में डूबना

यह हमारा अनुभव हैं कि बहुत लोग ऐसे होंगे. जिनको कई बैंकों द्वारा कई क्रेडिट कार्ड दे दिया गया हैं. जिसका लिमिट लाखों में हैं. लेकिन उनका इनकम सैलरी जो हैं महीने का सीमित हैं. उदाहरण के लिए उनका सैलरी एक लाख हैं. लेकिन उसके पास क्रेडिट कार्ड 3 लाख तक लिमिट का उपलब्ध हैं. अब सोचिए जिनके पास 3 लाख का कार्ड हैं, वह तो खर्च उतना ही करेंगे. 

लेकिन इनकम उनके पास एक लाख का हैं. अब इससे क्या होगा, कि वह खरीदारी बहुत ज्यादा मात्रा में कर लेंगे. इसके बाद जब उसका बिल जेनरेट होगा. तब उनके पास सैलरी तो एक लाख ही हैं. लेकिन उन्होंने खरीदारी 2 लाख का कर लिया हैं.

अब उनके पास कर्ज के अलावा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं होगा. तब वह अपने एक लाख अमाउंट को लोन में कन्वर्ट करेंगे. जिससे बैंक को फायदा होगा. आपका नुकसान होगा, तो यह एक ऐसा लुभाने चीज हैं. जिसको हर कोई लेना भी चाहता हैं तथा लेने के बाद पछताते भी हैं.

सारांश

इसलिए यदि अभी तक आप क्रेडिट कार्ड नहीं लिए हैं, तो हम आपको यह सलाह नहीं देंगे कि इसको मत लीजिए. लेकिन इसको लेने के बाद बहुत ही सावधानी से उपयोग करना जरूरी है. जो लोग पहले से उपयोग कर रहे हैं. वह भी इसका उपयोग बहुत ही सावधानी से करें. नहीं तो धीरे-धीरे आपका कर्ज बढ़ना शुरू हो जाएगा. फिर आप इसको कंट्रोल नहीं कर पाएंगे. इसीलिए अपने क्रेडिट कार्ड के नुकसान को समझते हुए, इसको धैर्य पूर्वक सही तरीके से उपयोग करना सीखें.

Leave a Comment